Read Blog on various aspects related to education, edutainment,
technology in education, career tips and a lot more

सामयिक अंकेक्षण क्या है? परिभाषा, विशेषताएँ, उपयोगिता क्षेत्र, लाभ तथा दोष

सामयिक अंकेक्षण (Periodical audit) में पूरे वर्ष में अंकेक्षण का कार्य एक बार ही होता है। यह अंकेक्षण अंतिम लेखे तैयार होने के पश्चात शुरु होता है अर्थात् जब कोई…

आहार नियोजन क्या है? अर्थ, सिद्धांत, प्रभावित करने वाले तत्व

आहार नियोजन एक कला है। कलात्मक ढंग से प्रस्तुत किया गया भोजन हर व्यक्ति के लिए आनंददायक होता है चाहे उसका सेवन गृह में किया गया हो या बाहर। परिवार…

वैयक्तिक समाज कार्य की परिभाषा, विशेषताएँ, उद्देश्य एवं प्रकृति

भारतीय समाज में आरम्भ में वैयक्तिक आधार पर सहायता करने की परम्परा रही है। यहाँ पर निर्धनों को भिक्षा देने, असहायों की सहायता करने, निराश्रितों की सहायता करने, वृद्धों की…

आवश्यकता किसे कहते हैं? विशेषताएं तथा निर्धारक तत्व

आवश्यकता एक प्रकार से आन्तरिक अवस्था है। हर प्राणी की कुछ-न-कुछ आवश्यकताएं होती है। इनकी सन्तुष्टि तथा असन्तुष्टि से व्यक्ति का व्यवहार प्रभावित होता है। बोरिंग तथा अन्य मनोवैज्ञानिकों ने…

Agriculture या कृषि क्या है? अर्थ, परिभाषा, प्रकार, प्रभावित करने वाले तत्व

कृषि (Agriculture) मानव समूह द्वारा मिट्टियों पर की जाने वाली कला है, या वह कार्य है, जिससे के परिणाम स्वरूप फसलें उत्पन्न होती है। इस प्रकार विभिन्न समाज में इसको करने…

बाल कल्याण क्या है, उद्देश्य, क्षेत्र और संरक्षण के संवैधानिक प्रावधान

भारतीय योजना आयोग ने बाल कल्याण का अर्थ ‘‘बालक के सम्पूर्ण कल्याण से लगाया है।’’ इसके अन्तर्गत वे सम्पूर्ण आर्थिक, प्रशासनिक, प्राविधिक शैक्षिक और सामाजिक प्रयत्न आते है जिनका उद्देश्य…

कार्यशील पूंजी का अर्थ, परिभाषा, प्रकार, महत्व एवं स्रोत

आधुनिक व्यवसाय जगत में कार्यशील पूंजी किसी भी संगठन में एक महत्वपूर्ण वित्त का स्रोत है जो अल्पकालीन वित्त के माध्यम से संगठन की आवश्यकता पूर्ति करती है। व्यावसायिक संस्था…